priyanka

no defeat is final until you stop trying.......

36 Posts

521 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 3063 postid : 90

"कुछ नयी हसरते ..." -valentine contest

Posted On: 13 Feb, 2011 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

कुछ नयी हसरते कुछ नयी चाहते
कुछ नए अहसास कुछ नयी आहटे
आपके आने से सब कुछ नया नया सा है
हवा है महकी महकी मौसम भी बदला सा है
कुछ दबा दबा था जो मन में वो खिलखिलाने लगा है
हँसता तो मन पहले भी था अब शरमाने लगा है
कुछ नयी मुस्कुराहते मन को लुभाने लगी है
कुछ नयी बाते मन को चौंकाने लगी है
आपके आने से मुझमे एक नया उत्साह है
आपके आने से मुझमे एक नया खुमार है
ये आपका जादू ही है जो मुझमे कुछ मचलने लगा है
ये आपका ही असर है जो मुझमे कुछ संवरने लगा है
कुछ नयी हलचले मन को तड़पाने लगी है
कुछ नयी उलझने मन में समाने लगी है
पत्तो की सरसराहट मुझको छूने लगी
फूलो की सुगंध मुझमे महकने लगी
ओस की बुँदे मुझे भिगोने लगी
पंछियों के संग मै उड़ने लगी
आपके आने से मुझको मेरा आसमान मिला
आपके आने से मुझको मेरा जहां मिला आपके आने से सब कुछ नया नया सा है
हम भी नहीं जानते ये क्या हुआ जो सब कुछ यूँ बदला बदला सा है ……………

| NEXT

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

6 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

rajkamal के द्वारा
February 13, 2011

आज मौसम का मिजाज़ कुछ बदला -२ सा है फिजा का रंग भी कुछ बदला -२ सा है ऐसा लगता है की मौसम को भी खबर हो गई है मेरे यार के आ जाने की ….. प्रिया जी …नमस्कार ! सुंदर और समर्पित भावों से सजी है आपकी यह कविता …. शुभकामनाये

    priyasingh के द्वारा
    February 13, 2011

    हौसलाअफजाई के लिए इतनी सुन्दर पंक्तिया कहने के लिए शुक्रिया……….

AMIT KR GUPTA,HAJIPUR के द्वारा
February 13, 2011

प्रिया जी नमस्कार ,प्रेम पर एक अच्छी रचना .बधाई का पात्र .आप मेरी रचना पढने के लिए इस add पर जा सकती हैं. http://www.amitkrgupta.jagranjunction.com

Deepak Sahu के द्वारा
February 13, 2011

सुंदर पंक्तियाँ ! बधाई http://deepakkumarsahu.jagranjunction.com/2011/02/13/love/

वाहिद काशीवासी के द्वारा
February 13, 2011

प्रिया जी, आपके उद्गार बहुत पसंद आये| सुन्दर रचना| http://kashiwasi.jagranjunction.com

Piyush Pant, Haldwani के द्वारा
February 13, 2011

सुंदर रचना हार्दिक बधाई……


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran